Brahmastra Movie Review | ब्रह्मास्त्र में VFX दिल को छूने वाला है।

Rate this post

Brahmastra Movie Review: दोस्तों ब्रह्मास्त्र मूवी का इंतजार काफी समय से जनता कर रही थी। शायद यह भारत की पहली फिल्म होगी जिस को बनाने में करीब 8 साल लग गए। अगर इस मूवी के बजट की बात करें तो ब्रह्मास्त्र मूवी को बनाने में 400 करोड़ रुपए की लागत आई है।

फिल्म का नामब्रह्मास्त्र पार्ट वन शिवा
फिल्म के मुख्य किरदाररणबीर कपूर , आलिया भट्ट , अमिताभ बच्चन , नागार्जुन , मौनी रॉय और शाहरुख खान
लेखकअयान मुखर्जी और हुसैन दलाल
निर्देशकअयान मुखर्जी
निर्मातास्टार स्टूडियोज , धर्मा प्रोडक्शंस , प्राइम फोकस और स्टारलाइट पिक्चर्स
रिलीज डेट9 सितंबर 2022
IMDB रेटिंग4.8/18 (18K people)

यह लागत ब्रह्मास्त्र मूवी के पार्ट वन की है अगर तीनों पार्ट के लागत की बात करें तो या करीब 1000 करोड़ के आसपास में पहुंचने वाला बजट है। इस मूवी में काफी बड़े-बड़े स्टार लिए गए हैं जैसे अगर पार्ट वन की बात करें तो रणबीर कपूर आलिया भट्ट लीड रोल में है और सपोर्टिंग एक्टर की बात करें तो अमिताभ बच्चन, शाहरुख खान, नागार्जुन और भी बहुत बड़े नाम इस फिल्म से जुड़े हुए हैं जब फिल्म पूरी तरह से VFX पर आधारित फिल्म है।

इस फिल्म के निर्देशक अयान मुखर्जी का उद्देश्य है कि लोग इस फिल्म को देखने के बाद मार्बल की मूवी को भूल जाए। और कहीं ना कहीं इस मूवी में बीएफ एक्स का इस्तेमाल बहुत ही अच्छे तरीके से किया गया है जिसे आप परदे पर महसूस कर पाएंगे।

इस फिल्म को बनाने में भर भर के बीएफ एक्स का इस्तेमाल किया गया है जिसका आनंद आप यदि 3D टिकट बुक करते हैं तो उठा पाएंगे 2D में रीफैक्स का आनंद आप अपना नहीं दे पाएंगे जितना कि आप को 3डी में देखने को मिलेगा।

ब्रह्मास्त्र की कहानी क्या है?

फिल्म के कहानी की शुरुआत होती है अमिताभ बच्चन की आवाज के साथ जो ब्रह्मास्त्र की टूटने की कहानी बताते हैं। वह बताते हैं कि कैसे ब्रह्मास्त्र अलग-अलग टुकड़ों में टूट गया और उनकी रक्षा करने वाले लोग आज भी कैसे इस धरती पर मौजूद है और उनके अंदर ब्रह्मास्त्र की अलग-अलग शक्तियां मौजूद है।

ब्रह्मास्त्र के मुख्य रूप से तीन टुकड़ों में टूटने की कहानी बताई गई है जैसे वानर अस्त्र, अग्नि अस्त्र और नंदी अस्त्र पितरों के टुकड़ों को फिल्म के विलेन यानी कि मोनी राय इकट्ठा करना चाहती है जिनको जोड़कर वह इस दुनिया पर राज करना चाहती है।

फिल्म में अमिताभ बच्चन का कैरेक्टर गुरुजी का है जिनके साथ ब्रह्मास्त्र के सभी रक्षक काम करते हैं। फिल्म की मेन कैरेक्टर रणबीर कपूर ने (शिवा) का रोल प्ले किया है जो एक नए जमाने का लड़का है और एक डीजे का काम करता है। इनके अंदर अग्नि अस्त्र है लेकिन इनको पता नहीं है।

नागार्जुन

जब इनकी लाइफ में फिल्म की लीड एक्ट्रेस आलिया भट्ट जिन्होंने ईशा नाम की लड़की का रोल प्ले किया है। इनकी एंट्री होती है तो शिवा को ईशा से प्यार हो जाता है और इसके बाद इनको अपनी शक्तियों का पता चलता है। शिवा के अंदर वह शक्ति है जो ब्रह्मास्त्र के अन्य टुकड़ों को जोड़कर दुनिया को बचाने में गुरुजी की मदद कर पाएगी।

शिवा और ईशा का प्यार इस फिल्म के लगभग फर्स्ट हाफ तक दिखाया जाता है। यहां पर फिल्म की स्टोरी थोड़ी सी कमजोर पड़ जाती है जहां पर आप को ऐसा लग सकता है कि फिल्म बोर कर रही है लेकिन यदि आप लव स्टोरी पसंद करते हैं तो आपको यह सेक्शन पसंद आने वाला है इसमें बहुत ही अच्छे अच्छे गाने रखे गए हैं और शिवा और ईशा की लव स्टोरी दिखाई गई है।

फिल्म में शाहरुख खान और नागार्जुन का काफी महत्वपूर्ण बोल रहा है और स्क्रीन पर इनको काफी ज्यादा टाइम भी दिया गया है। इन दोनों एक्टर ने बहुत ही अच्छे से अपने कैरेक्टर को निभाया है। फिल्म में जब शाहरुख खान मोहन जो कि एक वैज्ञानिक है जब इनकी एंट्री होती है तो VFX का इस्तेमाल काफी बढ़िया तरीके से किया गया है इनके अंदर वानर अस्त्र मौजूद है। इनकी एंट्री आपकी दिल की धड़कन बड़ा देने वाली है।

बात करते हैं नागार्जुन की नागार्जुन जो एक कलाकार का किरदार निभा रहे हैं इनके अंदर नंदी अस्त्र छुपा है। इस फिल्म में नागार्जुन का रोल भी काफी अच्छे तरीके से दिखाया जाए जो आपको आश्चर्यचकित कर देगा क्योंकि विजुअल इफेक्ट्स उनके कैरेक्टर के साथ भी बहुत अच्छे तरीके से दिखाए गए हैं।

इस फिल्म के विलेन मोनी रॉय ने जुनून का कैरेक्टर बहुत ही अच्छे तरीके से निभाया है इनको देख कर आपको मार्बल की स्कारलेट विच (Wanda) की याद आ जाएगी। इस फिल्म में जुनून का कैरेक्टर ब्रह्मास्त्र की तीनों टुकड़ों को हासिल करना चाहता है ताकि वह दुनिया पर राज कर सकें।

फिल्म के फर्स्ट हाफ खत्म होने के बाद शुरू होता है फिल्म का मेन पार्ट जिसमें आपको VFX, फाइटिंग सीन और क्लाइमेक्स देखने को मिलेगा। बाकी जानकारी के लिए आपको फिल्म जाकर देखें पड़ेगी।

ब्रह्मास्त्र पार्ट वन-शिवा की विशेषता क्या है?

इसमें हम बात करेंगे क्यों आपको ब्रह्मास्त्र पार्ट वन देखना चाहिए।

  • ब्रह्मास्त्र पार्ट वन भारत की पहली फिल्म है जिसमें VFX का इस्तेमाल बहुत ही ज्यादा किया गया है और सबसे अच्छी बात यह है कि आपको यह बीएफ एक्स कमाल के लगने वाले हैं।
  • VFX पर की गई मेहनत पर्दे पर देखने को मिलती है। फिल्म की कहानी उतनी मजबूत नहीं है लेकिन बीएफ एक्स की वजह से फिल्म अच्छी लगती है।
  • फिल्म में शाहरुख खान, नागार्जुन, और अमिताभ बच्चन का रोल आप की धड़कन बढ़ा देने वाला है।
  • फिल्म का सेकंड हाफ बहुत ही ज्यादा इंटरेस्टिंग है।
  • इस फिल्म को 2D और 3डी दोनों में बनाया गया है विजुअल इफेक्ट्स का अगर मजा लेना चाहते हैं तो आपको 3D देखना चाहिए।
  • इस फिल्म के गाने बहुत ही अच्छे हैं। तो आप गानों का इंजॉय कर सकते हैं।
  • यह फिल्म बहुत ही बड़े बजट की फिल्म है और इसे बनाने में कम से कम 8 साल लगे हैं तो कम से कम इसकी वजह से तो देखने जाना बनता है।

ब्रह्मास्त्र पार्ट वन – शिवा की कमियां क्या है?

इस फिल्म को बनाने में काफी ज्यादा मेहनत करी गई है लेकिन स्टोरी में उतना दम नहीं है जितना होना चाहिए। कहीं कहीं आपको फिल्म के डायलॉग बोर कर सकते हैं और स्टोरी ऐसा लगता है कि जैसे जबरदस्ती आगे बढ़ाई जा रही हो।

  • फिल्म का फर्स्ट हाफ शिवा और ईसा की लव स्टोरी में दिखाया गया है जो इस फिल्म को इसके मुख्य लक्ष्य से भटकाती है।
  • फिल्म के डायलॉग उतने आईकॉनिक नहीं है जितनी होनी चाहिए।
  • फिल्म के डायलॉग आपको निराश कर सकते हैं।
  • फिल्म का क्लाइमेक्स और अच्छा दिखाया जा सकता था। जहां क्लाइमैक्स में फाइटिंग सीन होना चाहिए वहां पर लगभग बातों के सहारे इन्हें सुलझाया जा रहा है जो उतना रोचक नहीं लगता।

डिस्क्लेमर: इस फिल्म की स्टोरी अच्छी नहीं हो सकती है क्योंकि यह केवल ब्रह्मास्त्र सीरीज का पहला पाठ है तो इसकी वजह से स्टोरी बहुत से लोगों को समझ में नहीं दी आई होगी। तो हो सकता है ब्रह्मास्त्र -2 और ब्रह्मास्त्र-3 देखने के बाद लोगों को इसकी स्टोरी अच्छी लगने लगे।

Sharing Is Caring:

Hi There! this is Er. Kuldeep a professional blogger, having 5 years of experience in blogging. I love to gather information and write about them. The aim of this blog is to keep you posted with every important update. So, keep visiting and keep learning.

Leave a Comment